आसान से स्टैप फोलो करके बदली जा सकती है EVM !





आसान से स्टैप फोलो करके बदली जा सकती है EVM !


हम सबको ये जान लेना चाहिए कि EVM मशीन को बदलने से पहले बदलने वाले को किन-किन स्टैप से गुजरना पड़ेगा..
1) ईवीएम डेटा को बदलना पड़ेगा।
2) ईवीएम का सीरियल नंबर बदलना पड़ेगा।
3) कंट्रोल यूनिट का सीरियल नंबर बदलना पड़ेगा।
4) वीवीपीएटी नंबर बदलना पड़ेगा। 5) वीवीपैट की पर्ची का मिलान नई ईवीएम मशीन पर दिए गए वोटों से करना पड़ेगा।
6) पेपर सील की संख्या बदलनी पड़ेगी।
7) स्ट्रिप सील की संख्या बदलनी पड़ेगी।
8) पेपर सील पर पीठासीन अधिकारी के साइन, पोलिंग एजेंट्स के साइन,उनके सभी साइन को मिटाकर नकली बनाना पड़ेगा।

9) मशीनें जिसमें सील दी जाती है और एजेंटों को प्रदान की जाती है, तो उन्हें भी तोड़ना होगा, और नकली बनाना होगा।
10) मार्क की हुई कॉपी को बदलना होगा।
11) प्रत्येक एजेंट के घर पर जाकर और 17 सी फॉर्म बदलना पड़ेगा और उनके साथ उन्हें एक और 17 सी फॉर्म देना होगा, जिसमें पीठासीन अधिकारी के नकली हस्ताक्षर करने‌ पड़ेंगे।
12) प्रत्येक पोलिंग एजेंट को पैसे से खरीदना होगा, ताकि वे गिनती के दौरान किसी भी परेशानी के बिना, इस धोखाधड़ी के बारे में कोई जानकारी न दें।
13) मतदाता टर्न आउट रिपोर्ट को बदलना पड़ेगा।
14) यदि वेब कास्टिंग या वीडियो रिकॉर्डिंग का प्रावधान है, तो उन्हें हटाना होगा और साथ ही, एक सुरक्षित स्थान पर एक गलत बूथ संरचना का निर्माण करना होगा, उस बूथ के मतदाताओं को लुभाकर झूठी मतदान की वीडियो रिकॉर्डिंग करनी होगी।

15) चुनाव आयोग की वेबसाइट पर 2 घंटे के बाद मतदाता विवरणी रिपोर्ट भेजनी होती है उसे वेबसाइट से मिटाना होगा।
16) व्हाट्सएप कंपनी से बात करते हुए, व्हाट्सएप के माध्यम से, सेक्टर अधिकारी को सभी रिपोर्ट भेजनी होती है, उन्हें भी हटाना होगा। इसके साथ ही एक नई "झूठी रिपोर्ट" दर्ज करनी होगी। इसके साथ, रिपोर्ट का वही पुराना "तिथि और समय" रखना होगा।
इनके अलावा, कई अन्य चीजें हैं:
17) सुप्रीम कोर्ट के सभी जजों को अपनी-अपनी टीम में घसीटना होगा।
18) केंद्रीय चुनाव आयुक्त को अपने साथ मिलाना होगा।
19) राज्य चुनाव आयुक्त को मिलाना होगा।
20) पुलिस सुपर को धांधली करनी होगी।
21) डी एम को वश में करना होगा।
22) पर्यवेक्षक को अपने में मिलाना होगा।
23) केंद्रीय बलों को अपने में मिलाना होगा।
आखिरकार,
24) राज्य और उस राज्य की राज्य सरकार में विपक्षी दल को सहमत करना होगा।

25) राज्य के सभी लोगों को मूर्ख बनाना होगा।
27) मीडिया को दी गयी रिपोर्टिंग बदलनी पड़ेगी।
28. सभी शिक्षित लोगों को मूर्ख होना होगा ताकि वे सब समझ कर भी चुप चाप रहे।
*फिर सोचो,*
*इन सभी चीजों को करने के बाद भी "केवल एक" ईवीएम मशीन किसी भी टीम द्वारा बदली जा सकेगी।*
एक बूथ की मशीन बदलने‌ के लिए आपको इतना कुछ करना पड़ेगा तो सोचो कि एक संसदीय क्षैत्र कॊ धांधली करके जीतना चाहते हैं, तो कितने EVM मशीनों को बदलना होगा, और ऐसा करने के लिए कितना काम करना पड़ेगा?



भारतीय चुनाव आयोग पर विश्वास रखिए, सभी निर्वाचन निष्पक्ष संपन्न होते हैं।
#ThinkBeforeYouBelieve
👫 https://cce.guru 📚

Post a Comment

0 Comments