जल्द जारी होंगे पुलिस, पटवारी, ग्राम सेवक सहित विभिन्न विभागों में भर्ती के नोटिफिकेशन


जल्द जारी होंगे पुलिस, पटवारी, ग्राम सेवक सहित विभिन्न विभागों में भर्ती के नोटिफिकेशन

राजस्थान सरकार द्वारा जल्द ही भर्तियों का पिटारा खोला जाएगा। लोकसभा चुनाव और आचार संहिता के कारण देशभर में सरकारी नौकरियों पर विराम सा लग गया था। बेरोजगार युवा भर्ती विज्ञापन के इंतजार में बैठे हैं। राज्य सरकारों के द्वारा लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद विभागों में रिक्त पदों पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी किए जाएंगे। केंद्र और राज्य सरकार द्वारा नौकरियां जारी की जाएगी। दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल के पदों पर भर्ती के लिए मंजूरी भी पहले ली जा चुकी थी, अब पदों में बढ़ोतरी के साथ जल्द ही विज्ञापन जारी किया जाएगा। पिछली भर्तियों की अटकी हुई नियुक्ति प्रक्रिया भी आचार संहिता पश्चात पूरी की जाएगी।

राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में कांग्रेस ने सत्ता में आने से पूर्व बेरोजगार युवाओं से बंपर नौकरियों का वादा किया था। घोषणा पत्र में भी सालाना मापदंड के अनुसार नौकरी निकाले जाने का वादा किया था। घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा करने का अब समय आ गया है। राजस्थान में सरकारी नौकरियां जल्द ही जारी की जाएगी। विभाग द्वारा रिक्त पदों पर भर्ती के लिए सरकार द्वारा मंजूरी ली जाती है। आचार संहिता के कारण मंजूरी नहीं मिल पाती। राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती के जरिए 10 हजार से अधिक पद भरे जाएंगे। प्रथम, द्वितीय और तृतीय श्रेणी अध्यापक के रिक्त पदों पर भर्ती की जाएगी। वन विभाग में वनरक्षक और वनपाल के पदों पर भर्ती होगी। राजस्थान रोडवेज में चालक परिचालक भर्ती के साथ अन्य पदों पर भी भर्ती की जाएगी। राजस्थान पटवारी भर्ती और ग्राम सेवक भर्ती की जाएगी। चिकित्सालयों में रिक्त पदों पर भी सभी ग्रेड की भर्तियां की जाएगी।

राज्य और केंद्र सरकार द्वारा चपरासी से लेकर प्रशासनिक अधिकारी तक के पदों पर भर्तियां निकाली जाएगी। राजस्थान और मध्यप्रदेश में सरकारों द्वारा सत्ता में आने से पहले संविदा कर्मियों को नियमित करने का भी वादा किया था। घोषणा पत्र के मुताबिक प्रतियोगी परीक्षा के लिए बस यात्रा निःशुल्क और भर्ती रद्द होने पर शुल्क वापसी किया जाएगा। जुलाई महीने तक राजस्थान पुलिस, पटवारी और ग्राम सेवक के पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया जा सकता है।

Post a Comment

0 Comments